बुद्धिमान किसान और बात करने वाला पेड़ | short moral stories in Hindi | 14

बुद्धिमान किसान और बात करने वाला पेड़ | short moral stories in Hindi

एक समय की बात है, भारत के एक अनोखे गाँव में, राजू नाम का एक दयालु किसान रहता था। वह अपनी कड़ी मेहनत और प्रकृति और सभी जीवित प्राणियों के प्रति करुणा के लिए जाने जाते थे। राजू का खेत हरे-भरे खेतों, रंग-बिरंगे फूलों और फलदार पेड़ों से भरा हुआ था। हालाँकि, उनकी सबसे प्रिय संपत्ति एक राजसी बरगद का पेड़ था जो उनके खेत के केंद्र में लंबा और बुद्धिमान खड़ा था। short moral stories in Hindi

एक दिन, जब राजू अपनी फसल की देखभाल कर रहा था, उसे कुछ असामान्य चीज़ दिखाई दी। बरगद का पेड़ बोलने लगा! आश्चर्यचकित और चिंतित होकर, राजू सावधानी से पेड़ के पास पहुंचा। short moral stories in Hindi

“नमस्कार, प्रिय किसान,” पेड़ ने गर्मजोशी और सौम्य आवाज़ में कहा। “मैं तुम्हें और तुम्हारे खेत में आने वाले सभी प्राणियों के प्रति तुम्हारी दयालुता को देख रहा हूँ। मैं तुम्हारी करुणा से प्रभावित हूँ, और मेरे पास तुम्हारे लिए एक विशेष उपहार है।” short moral stories in Hindi

राजू को अपने कानों पर विश्वास नहीं हुआ, लेकिन उसने ध्यान से सुना।

पेड़ ने आगे कहा, “आपने उन पक्षियों, कीड़ों और जानवरों पर दया की है जो भोजन और आश्रय की तलाश में आपके खेत में आते हैं। अब से, जब भी आप किसी कठिन परिस्थिति या समस्या का सामना करें, तो मेरे पास आएं, और मैं आपको भोजन दूंगा मार्गदर्शन और ज्ञान।”

short moral stories in Hindi

इस असाधारण उपहार से प्रसन्न होकर, राजू ने पेड़ को धन्यवाद दिया और उसकी बुद्धिमत्ता को संजोने का वादा किया।

समय के साथ, राजू का खेत और भी अधिक फला-फूला, जिससे पड़ोसी गाँवों के लोग आकर्षित हुए जो उसकी सफलता से सीखना चाहते थे। अपने वचन के प्रति सच्चा राजू, जब भी किसी दुविधा का सामना करता था तो अक्सर बुद्धिमान बरगद के पेड़ से सलाह लेता था। short moral stories in Hindi

एक दिन, गाँव में भयंकर सूखा पड़ा और फसलें सूखने लगीं। राजू को चिंता थी कि वह इस चुनौतीपूर्ण समय में कैसे जीवित रहेगा। वह समाधान की तलाश में बात करने वाले पेड़ के पास गया। short moral stories in Hindi

पेड़ ने कहा, “प्रिय राजू, आशा मत खोओ। हर समस्या का समाधान होता है। तुम्हें अपने पास मौजूद पानी का बुद्धिमानी से उपयोग करना चाहिए, और याद रखना कि जरूरतमंदों के साथ इसे साझा करना चाहिए।”

short moral stories in Hindi

पेड़ की सलाह का पालन करते हुए, राजू ने सावधानीपूर्वक अपनी सभी फसलों में पानी वितरित किया, यह सुनिश्चित करते हुए कि प्रत्येक पौधे को सही मात्रा मिले। इसके अलावा, उन्होंने कुछ पानी पड़ोसी खेतों के साथ साझा किया जो और भी अधिक संघर्ष कर रहे थे। short moral stories in Hindi

जैसे-जैसे दिन बीतते गए, राजू का खेत सूखे से बचने में कामयाब रहा, जबकि पड़ोसी खेतों को तबाही का सामना करना पड़ा। चुनौतीपूर्ण समय में भी राजू के खेत को फलता-फूलता देखकर ग्रामीण आश्चर्यचकित और प्रेरित हुए। short moral stories in Hindi

राजू के बुद्धिमान बरगद के पेड़ और उसके दयालु स्वभाव की बात दूर-दूर तक फैल गई। दूर-दूर से लोग उनसे मिलने आते थे और उनके अनुभवों से सीखते थे। राजू ने विनम्रतापूर्वक पेड़ के ज्ञान और दयालुता और साझा करने के महत्व में अपने विश्वास को साझा किया।

कहानी का सार यह है कि दया, करुणा और ज्ञान मूल्यवान गुण हैं जो सफलता और खुशी की ओर ले जा सकते हैं। सभी जीवित प्राणियों के प्रति विचारशील होकर और जरूरतमंदों के साथ साझा करके, हम एक सामंजस्यपूर्ण दुनिया बना सकते हैं जहां हर कोई एक साथ मिलकर पनपे। short moral stories in Hindi

1 thought on “बुद्धिमान किसान और बात करने वाला पेड़ | short moral stories in Hindi | 14”

Leave a comment